प्रशिक्षण

प्रशिक्षण कार्यक्रम विभाग का मेरूदण्ड है। खेल विभाग द्वारा प्रदेश के प्रत्येक जनपद में निर्मित विभागीय खेल अवस्थापनाओं यथा-बहुउद्देशीय क्रीड़ाहाल जिम्नेजियम, तरणताल, सिन्थेटिक बास्केटबाल, हॉकी एस्ट्रोटर्फ (कृत्रिम घास का मैदान) आदि कोर्ट्स का नियमित एवं अधिकाधिक सदुपयोग करने हेतु लोकप्रिय खेलों के प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन किया जाता है। इसके लिए पूरे वर्ष का एक प्रशिक्षण कार्यक्रम तैयार किया जाता है। जिस जनपद में खेल विशेष के विभागीय प्रशिक्षक तैनात नहीं होते है वहाँ अंशकालिक मानेदय प्रशिक्षकों द्वारा शिविरों को संचालन कराया जाता है। प्रशिक्षकों की योग्यतानुसार मानदेय का भुगतान किया जाता है। वित्तीय वर्ष 2014-15 में इस योजना में कुल 600 लाख रूपये का बजट प्राविधान है।

वर्ष 2014-15 में खेल विभाग द्वारा प्रदेश के जनपदों में निर्मित स्टेडियमों में खेल अवस्थापनाओं में विभिन्न खेलों के विभागीय अधिकारियों द्वारा 129 प्रशिक्षण शिविर का संचालित किया जा रहा है तथा 252 अंशकालिक प्रशिक्षकों की तैनाती निर्धारित की गयी है।

छ: वर्षो का विवरण निम्नवत् है :-

क्र. सं. वर्ष निर्धारित प्रशिक्षण की संख्या लाभान्वित / प्रशिक्षित खिलाड़ियों की
निर्धारित संख्या
1 2008-09 विभागीय - 123  अशंकालिक - 232 10,285
2 2009-10 विभागीय - 123  अशंकालिक - 175 8,295
3 2010-11 विभागीय - 135  अशंकालिक - 195 9636
4 2011-12 विभागीय - 142  अशंकालिक - 284 17040
5 2012-13 विभागीय - 142  अशंकालिक - 327 18680
6 2013-14 विभागीय - 129  अशंकालिक - 303 15405
7 2014-15 विभागीय - 129  अशंकालिक - 252 13416

केन्द्रीय प्रशिक्षण शिविर

केन्द्रीय प्रशिक्षण शिविर छात्रावास का एक अंग है। आवासीय क्रीड़ा छात्रावासों में प्रवेश हेतु आयोजित राज्य स्तरीय चयन / ट्रायल्स में निर्धारित संख्या के अनुसार चयनित बालक एवं बालिकाओं का 15 दिवसीय केन्द्रीय प्रशिक्षण शिविर संचालित कराया जाता है, जिसमें खिलाड़ियों को प्रगाढ़ प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। केन्द्रीय प्रशिक्षण शिविर के अन्तिम दो दिनों में अन्तिम चयन / ट्रायल्स आयोजित किया जाता है। उक्त चयन / ट्रायल्स में प्राप्त अंको के आधार पर मेरिट सूची बनायी जाती है। आवासीय क्रीड़ा छात्रावासों में रिक्त स्थानों के सापेक्ष मेरिट के आधार छात्रावासों में प्रवेश दिया जाता है।

विशेष प्रशिक्षण शिविर एवं किट की व्यवस्था

प्रदेशीय खेल संघों द्वारा चयनित प्रदेशीय टीमों को राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए भेजा जाता है। खेल विभाग द्वारा प्रदेशीय टीमों को राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लेने से पूर्व 10-15 दिवसीय विशेष प्रशिक्षण शिविर की सुविधा प्रदान की जाती है। जिससे टीम में तालमेल बन सकें एवं उनके खेल में सुधार आ सके तथा राष्ट्रीय प्रतियोगिता में अच्छा प्रदर्शन कर प्रदेश का नाम गौरवान्वित कर सकें। प्रशिक्षण अवधि में खिलाड़ियों के भोजन एवं आवास आदि की सुविधा पर होने वाले व्यय को खेल विभाग द्वारा वहन किया जाता है। इन प्रदेशीय टीमों के खिलाड़ियों हेतु किट तथा राष्ट्रीय चैम्पियनशिप के आयोजन स्थल तक आने-जाने का रेल किराया सिंगल फेयर डबल जर्नी के सिद्धान्त के आधार पर आरक्षण शुल्क सहित विभाग द्वारा प्रदान किया जाता है।

नियम एवं शर्तें | कॉपीराइट नीति | गोपनीयता नीति | हाइपरलिंकिंग नीति | मदद
उत्तर प्रदेश खेल विभाग की आधिकारिक वेबसाइट है।
इस वेबसाइट पर प्रकाशित विषयवस्तु व उसके प्रबंधन का कार्य खेल विभाग, उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा किया जाता है। इस वेबसाइट के बारे में किसी भी प्रश्न के लिए,
"वेब सूचना प्रबंधक : श्री अनिल कुमार (उप सचिव) मोबाइल नंबर : 9454412700" से संपर्क करें।
© खेल विभाग, उ० प्र०, भारत | सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुक संख्या :
अंतिम नवीनीकृत तिथि : गुरुवार, Apr 13 2017 3:04PM
यह वेबसाइट यूपीडेस्को के माध्यम से ओमनी नेट द्वारा डिजाइन व डेवलप की गई