उत्तर प्रदेश खेल निदेशालय के बारे में

प्रदेश में खेल विभाग द्वारा खेल कार्यक्रमों के विकास एवं खिलाड़ियों के खेल में निखार लाने के समुचित अवसर प्रदान करने के दृष्टिकोण से विविध योजनायें कार्यान्वित की जा रही हैं। प्रदेश में वर्ष 1974 में खेल विभाग की स्थापना हुई। खेल विभाग द्वारा इस उद्देश्य की पूर्ति हेतु प्रदेश के विभिन्न जनपदों में आवश्यक अवस्थापना सुविधाएं यथा स्टेडियम, बहुउद्देशीय क्रीडाहाल, तरणताल, बैडमिन्टन, टेनिस, वालीबाल कोर्ट, जिम्नेजियम हाल, हाकी, फुटबाल जैसे खेलों के लिए खेल मैदान, एथलेटिक्स ट्रैक आदि सृजित की जा रही हैं। इन योजनाओं के फलस्वरूप प्रदेश में क्रीडा प्रतिष्ठानों की उपलब्धता और खिलाड़ियों को अन्य खेल सुविधायें उपलब्ध कराने के क्षेत्र में काफी विस्तार हुआ है। प्रशिक्षण, प्रतियोगिता एवं अन्य योजनाओं के संचालन हेतु खेल विभाग अपने सहयोगी विभागों, शिक्षा विभाग, युवा कल्याण विभाग, स्वायत्तशासी खेल संघों तथा अन्य खेल आयोजकों के तालमेल से कार्य करता है। प्रशिक्षण योजनाओं में खेल छात्रावास तथा स्पोर्टस कालेज परिणामजनक योजनाएं हैं। इन योजनाओं में अधिक से अधिक प्रतिभाओं को लाभ पहुँचाने के उद्देश्य से 16 खेलों के 740 खिलाड़ियों हेतु 36 आवासीय क्रीड़ा छात्रावास 18 जनपदों के स्टेडियमों में संचालित हैं। खिलाड़ीगण इन सुविधाओं का समुचित उपयोग कर राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश व देश का नाम गौरवान्वित कर रहे हैं।